Friday, February 3, 2012

कविता क्या है ..


कविता अभिव्यक्ति है -
एक क्षण की - एक अनुभव की- एक सोच की ..
क्षमता है -
दूसरे के दर्द को आत्मसात कर , व्यक्त करने की....
कविता अनुभूति है -
ब्रह्माण्ड से एकरूप होनेकी -
आस्मानोंको छूनेकी, सागर की तह तक पहुंचनेकी.....
कविता
अकेलापन की साथी है -
ख़ुशी ,उन्माद, और शांति का पर्याय है -
जीवन का एक शाश्वत रूप है !!!!!  

13 comments:

  1. बहुत ही सुन्दर रचना है सरस जी बधाई आप को,इसे पढ़ कर मुझे मेरी एक कविता याद आ गयी ,ये कविता आखिर क्या होती है

    तेरे-मेरे जीवन की इस में छुपी व्यथा होती है .......

    ReplyDelete
  2. कल 18/02/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  3. अच्छा परिभाषित किया है ...

    ReplyDelete
  4. कभी कविता हमे परिभाषित करती है...कभी हम कविता को...

    सुन्दर अभिव्यक्ति..

    ReplyDelete
  5. बहुत सही कहा है....
    ऐसी ही होती है कविता
    बहुत सुन्दर:-)

    ReplyDelete
  6. आपकी सराहना बहुत बड़ा संबल है ......एक सोपान है आप तक पहुँचने का ...बहुत बहुत आभार !

    ReplyDelete
  7. सुंदर भावनाओं की अर्थपूर्ण अभिव्यक्ति...

    ReplyDelete
  8. सत्य !सत्यता कों बहुत करीब से तुममे जीती हूँ मै..!
    भाषा के संस्कार, कल्पना की गहराई, अनुभव की पूर्णता,
    और मार्मिकता, मौलिक अलंकारों से सुशोभित है तुम्हारी रचना मित्र!
    हम आशा करते हैं अपनी इन अर्थ प्रदान करने वाली कवितावों के द्वारा,
    हम सब का मार्ग तुम प्रकाशित करती रहोगी... आभार!

    ReplyDelete
  9. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  10. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  11. बेहतरीन अभिव्यक्ति सरस जी , बधाई

    ReplyDelete